अमरीका में गोलीबारी ,एक भारतीय छात्र की मौत

0
102

तेलंगाना की 24 वर्षीय युवक की अमेरिका के एक रेस्टोरेंट में गोलीबारी में शुक्रवार को मौत गई है. वारंगल का रहने वाला छात्र शरत कप्पू यहां की मिसूरी यूनिवर्सिटी में पढ़ता था.

रिपोर्ट के मुताबिक कंसास पुलिस को शुक्रवार शाम 7 बजे एक रेस्टोरेंट में गोलीबारी की सूचना मिली थी. इसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर खून से लथपथ शरत को एक पूल में गिरा पाया. आनन-फानन में युवक को करीब के अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. शरत के शरीर पर गोलियों के निशान भी मिले हैं.

फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है लेकिन अभी तक इस मामले में किसी की भी गिरफ्तारी नहीं हुई है. चश्मदीदों के मुताबिक उन्होंने रेस्टोरेंट से 5 गोलियां चलने की आवाज सुनी थी. शरत कंसास में रहता था और हायर स्टडीज के लिए उसने मिसूरी यूनिवर्सिटी में दाखिला लिया था.

जवान बेटे की मौत के बाद वारंगल में शरत के परिवार में मातम पसर गया है. परिजनों ने राज्य के NRA मंत्री के. वाई. रामाराव से मामले में दखल देकर जल्द से जल्द शरत के पार्थिव शरीर को भारत लाने की गुजारिश की है.

भारत के अलग-अलग हिस्सों से कई युवा नौकरी और पढ़ाई के लिए अमेरिका जाते हैं. लेकिन बीते कुछ साल से लगातार भारतीयों को निशाना बनाया जा रहा है. कंसास, शिकागो, मिसिसिपी में बीते दिनों भी भारतीयों पर हमलों की खबरें आई थीं. पिछले साल दिसंबर में मिसिसिपी राज्य में लूटपाट के दौरान जालंधर के रहने वाले 21 वर्षीय संदीप सिंह की उसके घर के सामने ही गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी कंसास में भारतीय इंजीनियर की हत्या की निंदा की थी. व्हाइट हाउस की ओर से जारी बयान में कहा गया था कि राष्ट्रपति ट्रंप प्रवासियों को निशाना बनाकर किए गए इस हमले की निंदा करते हैं. अमेरिकी संसद में अपने संबोधन में भी राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा था कि अमेरिका इस तरह की घृणित सोच की निंदा करता है.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here