ईरान की संसद और अयातुल्‍लाह खोमैनी के मकबरे पर गोलीबारी, दो की मौत

0
115
सरकारी न्‍यूज एजेंसी ISNA के मुताबिक शहर के दक्षिण में खोमैनी के मकबरे में जब सशस्‍त्र हमलावरों ने हमला किया तो वहां गोलीबारी में एक माली की मौत हो गई.
सरकारी न्‍यूज एजेंसी ISNA के मुताबिक शहर के दक्षिण में खोमैनी के मकबरे में जब सशस्‍त्र हमलावरों ने हमला किया तो वहां गोलीबारी में एक माली की मौत हो गई.

ईरान की संसद और क्रांतिकारी नेता अयातुल्‍लाह रुहोल्‍लाह खोमैनी के मकबरे पर बुधवार को हुए दो अलग-अलग हमलों में दो लोगों की मौत हो गई. इसके साथ ही एक महिला आत्‍मघाती हमलावर भी मारी गई. बंदूकधारियों ने जब ईरान संसद परिसर में हमला किया तो एक सुरक्षाकर्मी मारा गया. सरकारी न्‍यूज एजेंसी ISNA के मुताबिक शहर के दक्षिण में खोमैनी के मकबरे में जब सशस्‍त्र हमलावरों ने हमला किया तो वहां गोलीबारी में एक माली की मौत हो गई. सरकारी टेलीविजन की वेबसाइट ने सांसद इलियास हजराती के हवाले से बताया कि तीन हमलावरों ने हमला किया. ये एक पिस्‍तौल और दो एके-47 से लैस थे जब इन्‍होंने संसद परिसर में हमला किया.

संसद परिसर के भीतर की स्थिति के बारे में अलग-अलग सूचनाएं आ रही हैं. कुछ रिपोर्टों के मुताबिक अब स्थिति वहां की नियंत्रण में है लेकिन अन्‍य रिपोर्टों के मुताबिक अभी भी गोलीबारी जारी है और सुरक्षाबलों ने संसद भवन को चारों तरफ से घेर रखा है. ISNA की रिपोर्ट के मुताबिक बंदूकधारियों को घेर लिया गया है लेकिन अभी उनकी गिरफ्तारी नहीं हुई है.

वहीं दूसरी तरफ IRNA न्‍यूज एजेंसी के मुताबिक एक आत्‍मघाती हमलावर खोमैनी के मकबरे के पश्चिमी दरवाजे से दाखिल हुआ और उसने गोलीबारी करने के बाद खुद को उड़ा लिया. यह मकबरा दक्षिण तेहरान में स्थित है और संसद भवन से तकरीबन 20 किमी की दूरी पर स्थित है. अभी हमलावरों के इरादों और पहचान के बारे में स्‍पष्‍ट नहीं हो सका है. अयातुल्‍लाह रुहोल्‍लाह खोमैनी ने 1979 में ईरान में इस्‍लामिक क्रांति की थी.[highlight][/highlight]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here